• खुशी-खुशी हम पढ़ते जाते

      आपका स्वागत है ! क्या आप पढ़ने और लिखने का मजा लेना चाहते हैं ? क्या आप पूरे संसार का नागरिक बनना चाहते हैं ? तो फिर झटपट शुरू कीजिए अपने स्कूल में 'कथा क्लब' और बन जाइए एक लेखक, कवि एवं अनुवादक | भारत के होनहार बच्चों के साथ आप भी हाथ मिलाइए और अपना सपना साकार कीजिए | पढ़ने में खुशी और मज़े को शामिल कीजिए फिर देखिए चमत्कार | अपने स्कूल का आज ही पंजीकरण कराएँ |

     कृपया यहाँ पंजीकरण कराएँ

     
       
  • कल्पना की यह नयी उड़ान

      स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए एक सुनहरा अवसर| क्या आप शब्दों से खेलना चाहते हैं ? तो फिर लिखिए न अपनी कहानी ! अनोखी कहानियाँ लिखिए और दोस्तों की लिखी कहानियों को भी मज़े से पढ़िए और करें ढेर सारी बातें उन कहानियों पर | ज़रा सोचिए! कितना मज़ा आएगा जब आप सुप्रसिध्द साहित्यकारों की रचनाएँ पढ़ेंगे| तो अब शुरू हो जाइए कल्पना की नयी उड़ान भरने के लिए! और दिखा दीजिए अपनी लेखनी का जादू !

    अहा!

     
  • जन-जन में नव परिवर्तन

    कथा का मानना है कि बच्चे ही ला सकते हैं असली परिवर्तन | खेल.खेल में ही सीखेंगे और खेल.खेल में ही सिखाएँगे ,तभी आएगा स्थाई बदलाव | स्कूलों की क्यारी.क्यारी में खिल जाएँगे नन्हें फूल  और तभी आएगा जन.जन में नव परिवर्तन |  
  • टीचर की यह खोज निराली

    टीचर जी बच्चों को पढ़ने का मज़ा सिखाते हैं | बच्चों को पढ़ाने में टीचर जी को मज़ा भी खूब आता है |टीचर को असली मज़ा तब आता है जब बच्चे रूचि के साथ पढ़ते हैं | बच्चों का हर तरह का विकास हो सके यही तो रहता है हर टीचर के मन में |तभी तो कथा ने कहानियों के द्वारा ही हर विषय को सीखने और सिखाने की तरकीब खोज निकाली है | इसे कहते हैं टीचर जी की खोज निराली !
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4

छात्रों के लिए

join us now           read            write now     
join us now           read           write now           write now     
write now      write now      write now     

टीचर्स के लिए

join us now           read            write now